संस्कृत VVI Questions part – 03

संस्कृत VVI Questions part – 03


Q.1. ‘ मंगलम् ‘ पाठ के आधार पर आत्मा का स्वरूप बताइए |

उत्तर –  कठोपनिषद् मे आत्मा के स्वरूप का अपूर्व विश्लेषण किया गया है | आत्मा मनुष्य के हृदय रूपी गुफा मे अवस्थित है | यह अणु से भी सूक्ष्म है  | यह महान से भी महान है | इसका रहस्य समझने वाला सत्य का अन्वेषण करता है | वह शोकरहित होता है |

Q.2. भारतभूमि पर देवता क्यों जन्म लेना चाहते हैं ?

उत्तर – हमारा देश भारत ज्ञान-विज्ञान , शिक्षा-संस्कृति , धर्म-राजनीति आदि क्षेत्रों मे दुनिया के आरंभ से ही  ‘ अग्रीणी ‘ है | यह भूमि स्वर्ग तथा मोक्ष दामिनी है | धर्म की स्थापना करने के लिए देवता यहाँ जन्म लेना चाहते हैं |

Q.3. शिक्षा-संस्कारों का वर्णन करें |

उत्तर – शैक्षणिक संस्कार पाँच है | शिक्षा संस्कारों मे अक्षर-आरंभ , उपनयन , केशान्त , समावर्तन आदि संस्कार प्रकल्पित है | अक्षर-आरंभ के अंतर्गत अक्षर-अंक , लेखन-शिशु प्रारम्भ करता है | उपनयन में अध्ययन-स्वाध्याय-शिक्षण करता है | शिक्षा समाप्त होने पर गुरु-शिष्य को गृहस्थ जीवन मे जाने के लिए घर भेज देते हैं |

Q.4. विश्व मे शांति स्थापना कैसे होगी ?

उत्तर – अशान्ति के दो मुख्य कारणऔर है – द्वेष  असहिष्णुता | स्वार्थ से अशान्ति बढ़ती है | इस अशान्ति को बैर से नहीं रोका जा सकता | करुणा और मित्रता से ही बैर या अशान्ति नष्ट किया जा सकता है | इस प्रकार संसार मे शांति कि स्थापना की जा सकती है |

Q.5. कर्ण के अनुसार चिरस्थायी क्या है ?

उत्तर – कर्ण के अनुसार संसार मे सुकर्म ही अमर रहता है | इसका नाश कभी नहीं होता है | इसके अतिरिक्त सारी वस्तुएं नष्ट हो जाती है | सिर्फ यश और कीर्ति ही चिरस्थायी होता है |

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page