संस्कृत VVI Questions part – 04

संस्कृत VVI Questions part – 04


Q.1. राजशेखर ने पटना के सम्बन्ध मे क्या लिखा है ?

उत्तर – राजशेखर ने अपने काव्यमीमांसा मे लिखा है कि पाटलिपुत्र शिक्षा का एक प्राचीन केंद्र था | यहाँ अनेक संस्कृत विद्वान हुए हैं | यहाँ पाणिनी , पिंगल , पतंजलि आदि कि परीक्षा ली गई थी |

Q.2. पटना के मुख्य दर्शनीय स्थलों का नामोंल्लेख करें |

उत्तर – उच्च न्यायालय , सचिवालय , गोलघर , तारामण्डल , जैविक उद्यान , गुरुद्वारा आदि पटना के मुख्य दर्शनीय स्थल हैं |

Q.3. स्वामी दयानन्द को मूर्तिपूजा के प्रति अनास्था कैसे हुई ?

उत्तर – स्वामी दयानन्द का परिवार धर्म के प्रति आसक्ति रखता था | बड़ों को देखकर एक बार शिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर बिखड़े चावल के कणों को खाते हुए चूहों को देखा तो वे सोच मे पड़ गये कि जब शिव अपनी रक्षा नहीं कर सकते तो दूसरों कि रक्षा क्या करेंगे | ऐसे भाव आते ही उनके मन मे मूर्तिपूजन के प्रति अनास्था हो गई |

Q.4. ‘ व्याघ्र पथिक कथा ‘ के आधार पर बतायेँ कि दान किसको देना चाहिए ?

उत्तर – दान गरीबों को देना चाहिए | जो उपकार नहीं किया है उसे दान देना चाहिए | स्थान , समय और पात्र को ध्यान मे रखकर दान देना चाहिए |

Q.5. ‘ कर्णस्य दानवीरता ‘ पाठ के आधार पर इन्द्र की चारित्रिक विशेषताओं का उल्लेख करें |

उत्तर – इन्द्र को देवराज कहा जाता है | उनमे चारित्रिक गुणों के साथ कुछ दोष भी नजर आते हैं | अर्जुन कि रक्षा के लिए वे वेश बदल कर्ण के पास जाते हैं और दान मे कवच और कुण्डल कि मांग करते हैं | कर्ण सब कुछ जान कर भी सहर्ष इन्द्र को दान मे कवच और कुण्डल अर्पण कर देता है | उस समय इन्द्र किंकर्तव्यविमूढ़ हो जाते हैं |

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page