स्थिर वैद्युत विभव तथा धारिता Online Test | Physics Online Test Bihar Board |Class 12th Online Test Physics |Bihar Board Online Quiz

स्थिर वैद्युत विभव तथा धारिता Online Test 

 

Test देने से पहले Test का तैयारी जरूर करें।👈👈👈 यहाँ पर Click करें। 👈👈👈

 

1095
Created on

स्थिर वैद्युत विभव तथा धारिता Online Test

 

1 / 19

1. यदि कई संधारित्र उपलब्ध हों, तो उनके समूहन से उच्चतम धारिता प्राप्त करने के लिए उन्हें जोड़ना चाहिए

2 / 19

2. विद्युत – द्विध्रुव के अक्षीय एवं निरक्षीय स्थिति में तीव्रता का अनुपात होता है

3 / 19

3. आवेशित खोखले गोलाकार चालक के केंद्र पर

4 / 19

4. विद्युत – क्षेत्र E और विभव V के बीच सम्बन्ध होता है :

5 / 19

5.  डिबाई मात्रक है –

6 / 19

6. एकसमान विद्युतीय क्षेत्र में द्विध्रुव के विक्षेपण में किया गया महत्तम कार्य होगा

7 / 19

7. दो संधारित्र, जिसमें प्रत्येक की धारिता C है, श्रेणीक्रम में जुड़े हैं उनकी तुल्य धारिता है 

8 / 19

8. किसी वस्तु पर आवेश का कारण है

9 / 19

9.  एक बंद पृष्ठ के अंदर एक विद्युत द्विध्रुव स्थित है बंद पृष्ठ से निर्गत कुल विद्युत फ्लक्स होगा

10 / 19

10.  एक धनावेश को निम्न विभव के क्षेत्र से उच्च विभव के क्षेत्र में ले जाया जाता है आवेश की स्थितिज ऊर्जा 

11 / 19

11. किसी बिंदु x , y , z ( मीटर में ) पर विद्युत V = 4x विभव वोल्ट है । बिन्दु ( 1m , 0,2m ) पर विद्युत क्षेत्र की तीव्रता वाल्ट मीटर में है

12 / 19

12.  द्रव की एक बूंद को आवेशित करने पर सिकुड़ने की प्रवृति –

13 / 19

13. निम्नलिखित में कौन विद्युत क्षेत्र का मात्रक है ?

14 / 19

14. सम – विभवी पृष्ठ पर एक इलेक्ट्रान को एक बिंदु से दुसरे बिंदु तक विस्थापित करने में

15 / 19

15. एक प्रोटोन को 1 वोल्ट विभवान्तर से त्वरित किया जाता है इसके द्वारा ग्रहण की गई ऊर्जा होगी

16 / 19

16. यदि समरूप विद्युतीय – क्षेत्र X- दिशा में हो तो , समविभविय तल होगा

17 / 19

17. यदि किसी खोखले गोलीय चालक को धन आवेशित किया जाए तो उसके भीतर का विभव होगा

18 / 19

18. साबुन के एक बुलबुले को कुछ ऋणात्मक आवेश दिया जाता है इसकी त्रिज्या

19 / 19

19. एक इलेक्ट्रान को दुसरे इलेक्ट्रान की ओर लाने पर निकाय की स्थितिज ऊर्जा

Your score is

The average score is 19%

0%

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page