हमारे WhatsApp Group में जुड़ें👉 Join Now

हमारे Telegram Group में जुड़ें👉 Join Now

Biology 12th VVI Questions part – 01 (खाद्य उत्पादन में वृद्धि की कार्यनीति)

Biology 12th VVI Questions part – 01 (खाद्य उत्पादन में वृद्धि की कार्यनीति)


Q.1. पशुपालन के दो लाभ बताइए।

उत्तर –

  1. दुधारू पशुओं को पालने से हमें उनसे दूध प्राप्त होता है।
  2. पाले गये पशुओं के गोबर का प्रयोग खाद के रूप में किया जाता है जिससे मृदा की उर्वरता बनी रहती है।

Q.2. शहतूत के रेशमकीट का वैज्ञानिक नाम लिखिए।

उत्तर – बॉम्बिक्स मोराइ (Bombyx mori).

Q.3. मधुमक्खी की दो प्रजातियों के जन्तु वैज्ञानिक नाम लिखिए।

उत्तर – एपिस मेलीफेरो (Apis melifero) तथा एपिस इण्डिका (Apis indica).

Q.4. भारत में हरित क्रान्ति का जनक किसे कहते हैं ?

उत्तर – भारत में हरित क्रान्ति का जनक डॉ० एम०एस० स्वामीनाथन को कहते हैं।

Q.5. एकल कोशिका प्रोटीन देने वाले दो जीवों के नाम लिखिए।

उत्तर – स्पाइरुलीना एवं यीस्ट।

Q.6. दलहनी पौधों के लिए नाइट्रोजन युक्त खाद की ज्यादा आवश्यकता नहीं पड़ती हैं क्यों ?

उत्तर – दलहनी पौधों की जड़ों में प्रकृति में उपस्थित मुक्त नाइट्रोजन गैस का स्थिरीकरण करने वाले जीवाणु (राइजोबियम, नाइट्रोबैक्टर आदि) पाये जाते हैं जिनके कारण उन्हें नाइट्रोजन युक्त खाद की ज्यादा आवश्यकता नहीं पड़ती हैं।

Q.7. किन्हीं दो बी०टी० फसलों के नाम लिखिए। इनके निर्माण में भाग लेने वाले मुख्य जीवाणु का भी नाम लिखिए।

उत्तर –

  1. BT कपास
  2. BT बैंगन।

BT फसलों के निर्माण के लिए बैसीलस थूरीनजिएंसिस नामक जीवाणु का उपयोग किया जाता है।

Q.8. पशुपालन क्या है ?

उत्तर – पशुपालन, व्यावहारिक जीव विज्ञान की वह शाखा है जो पालतू पशुओं को मितव्ययितापूर्ण एवं स्वस्थ रखने की कला का ज्ञान कराती है।

Q.9. संकर ओज क्या है ?

उत्तर – संकर ओज-भिन्न-भिन्न आनुवंशिक संगठन युक्त दो या दो से अधिक जातियों में मौजूद लक्षणों को एक ही जाति में विकसित करने की विधि को संकरण कहते हैं तथा इस प्रकार प्राप्त हुई जातियों को संकर ओज कहते हैं।

Q.10. आनुवंशिकीय रूपान्तरित फसलों पर टिप्पणी लिखिए।

उत्तर – कीट पीड़कों से प्रतिरोधकता विकसित करने की यह पादप प्रजनन विधि है। इस विधि से प्राप्त पौधों पर कीट पीड़कों का कोई प्रभाव नहीं होता। ये पौधे जीवाणु, कवक जीन द्वारा परिवर्तित कर दिये जाते हैं इसलिए इन्हें आनुवंशिकीय रूपान्तरित फसल कहा जाता है। उदाहरणार्थ-बी०टी० फसलें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page