हमारे WhatsApp Group में जुड़ें👉 Join Now

हमारे Telegram Group में जुड़ें👉 Join Now

Biology 12th VVI Questions part – 01 (वंशागति और विविधता के सिद्धांत)

Table of Contents

Biology 12th VVI Questions part – 01 (वंशागति और विविधता के सिद्धांत)


Q.1. हीमोफीलिया को ब्लीडर रोग क्यों कहते हैं ?

उत्तर – क्योंकि इस रोग में चोट लग जाने या कट जाने पर रक्त का थक्का नहीं बनता जिसके कारण रक्त लगातार बहता रहता है।

Q.2. लिंग सहलग्न लक्षण को परिभाषित कीजिए। मनुष्य में लिंग सहलग्न वंशागति के द्वारा उत्पन्न दो व्याधियों के नाम लिखिए।

उत्तर – प्राणियों में कुछ आनुवंशिक लक्षणों की वंशागति लिंग से सम्बन्धित होती है। इनका सम्बन्ध लिंग गुणसूत्रों से होने के कारण इन्हें लिंग सहलग्न लक्षण कहते हैं; जैसे-मनुष्य में वर्णान्धता, हीमोफीलिया आदि।

Q.3. आनुवंशिक रोग क्या है ? मनुष्य में इस रोग के दो उदाहरण लिखिए।

उत्तर – वे रोग जो किसी संतान को अपने माता-पिता से आनुवंशिक रूप से प्राप्त होते हैं, आनुवंशिक रोग कहलाते हैं। उदाहरणार्थ-वर्णान्धता तथा हीमोफीलिया।

Q.4. विभिन्नता से आप क्या समझते हैं? कोई दो प्रकार की विभिन्नताएँ बताइए।

उत्तर – एक ही माता-पिता की विभिन्न संतानों में अंतर पाये जाते हैं। इस प्रकार जीवधारियों के बीच में पाये जाने वाले अंतरों को विभिन्नताएँ कहते हैं। विभिन्नता के दो मुख्य प्रकार निम्नवत् हैं –

  1. दैहिक विभिन्नताएँ
  2. जननिक विभिन्नताएँ |

Q.5. किस रुधिर वर्ग का मनुष्य सर्वग्राही होता है ?

उत्तर – ‘AB’ रक्त समूह का मनुष्य सर्वग्राही तथा ‘O’ रक्त समूह को मनुष्य सर्वदायी होता है।

Q.6. संकर-पूर्वज संकरण (back cross) तथा परीक्षण संकरण (test cross) में अन्तर बताइए।

उत्तर – जब किसी संकर को किसी भी जनक से संकरण कराया जाता है तो इसे संकर-पूर्वज संकरण कहते हैं जबकि प्रथम पीढ़ी (F1) जीव एवं समयुग्मकी अप्रभावी लक्षण वाले जीव के मध्य कराये गये संकरण को परीक्षण संकरण कहते हैं।

Q.7. मेंडल ने अपने प्रयोग के लिए कितने लक्षणों का चुनाव किया ? किन्हीं चार लक्षणों के नाम लिखिए।

उत्तर – मंडल ने अपने प्रयोग के लिए सात जोड़ी विपर्यासी लक्षणों का चुनाव किया। उदाहरणार्थ –

  1. पुष्पों का रंग-बैंगनी तथा सफेद
  2. बीज का रंग-हरा तथा पीला।
  3. पौधे की लम्बाई-लम्बा तथा बौना।
  4. बीज का आकार–गोल एवं झुर्रादार बीज।

Q.8. वंशागति या आनुवंशिकता तथा आनुवंशिकी में अन्तर स्पष्ट कीजिए।

उत्तर – आनुवंशिक लक्षणों के जनकों से सन्तति में पहुँचने को आनुवंशिकता कहते हैं। विज्ञान की वह शाखा जिसके अन्तर्गत आनुवंशिक लक्षणों एवं उनकी वंशागति का अध्ययन किया जाता है, आनुवंशिकी कहलाता है।

Q.9. वंशागति के क्रोमोसोमवाद को किसने प्रस्तावित किया ?

उत्तर – सटन व बोवेरी (Sutton and Boveri) ने।

Q.10. बिन्दु उत्परिवर्तन क्या है? एक उदाहरण दीजिए।

उत्तर – DNA के किसी एक क्षार युग्म (base pair) या न्यूक्लिओटाइड क्रम में होने वाला परिवर्तन, बिन्दु उत्परिवर्तन कहलाता है। उदाहरण – हँसियाकार कोशिका अरक्तता (sickle cell anaemia)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page